Yogi Government ने UP Police Bharti में किया बड़ा उलटफेर, देनी होगी Written Exam,  After the Supreme Court’s approval, the UP government is now going to Police Bharti in Uttar Pradesh.

UP Police Bharti 2018

But this time the recruitment of the soldier will be different from the first. Yes … You will also have to give a written examination to become a soldier. On Saturday, Chief Minister Yogi Adityanath announced that UP Police Recruitment will now have to give a Written Exam. Before the recruitment was done only with merit and physical examination. CM Yogi said that due to the wrong policies of the previous government, police recruitment was stopped in UP. Now the permission has been received.

Yogi said that about 1.5 lakh posts are empty in the police. Recruitment on these will start soon. In the first phase, 30 thousand constables and 2000 sub inspectors (SI) will be recruited. He said that it would not be so in recruitment that 86 posts in 86 only one caste special would be recruited. We will not discriminate on the basis of caste and gender. Our government will take full care of transparency in the recruitments.

The Supreme Court has clearly instructed the UPA Government that every year recruitment advertisement will be changed and the chairman of the UP State Police Recruitment Board will not be changed during the declaration of the results. The SC has directed that if this adherence does not come within the time limit given to the UPA Government, the officers will be personally held responsible.

इन कड़े निर्देशों का पालन जरुरी

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को स्पष्ट निर्देश दिया है कि हर साल भर्ती का विज्ञापन निकलने और रिजल्ट घोषित होने के दौरान UP State Police Recruitment Board का अध्यक्ष नहीं बदला जाएगा। एससी ने निर्देशित किया है कि यूपी सरकार को दिए गए समय सीमा के अंदर इस पालन नहीं हुआ तो अधिकारी निजी तौर पर ज़िम्मेदार ठहराए जाएंगे।

यूपी सरकार ने कोर्ट से किया ये वादा

यूपी सरकार ने एससी को बताया है कि वह 11,376 सब इंस्पेक्टर (Sub Inspector) की भर्ती जनवरी 2018 से शुरू हो जाएगी। लगभग 3200 सब इंस्पेक्टर की भर्ती हर साल निकालने के साथ इन्हें 4 चार में सभी पदों को भर लिया जाएगा। वहीं 1,01,619 सिपाहियों की भर्ती अगस्त 2017 से शुरू हो जाएगी और सितंबर 2021 तक सभी सिपाहियों के पद भर लिए जाएंगे।

प्रक्रिया में अपनाएंगे तेजी

यूपी सरकार ने एससी को बताया कि सब इंस्पेक्ट के लिए जनवरी में विज्ञापन दिया जाएगा और अक्टूबर में रिजल्ट घोषित होगा। इस पद के लिए अगले वर्ष फरवरी यानी 2019 से ट्रेनिंग शुरू होगी और जनवरी 2020 में ट्रेनिंग खत्म हो जाएगी। यही प्रक्रिया चार साल तक अपनाई जाएगी। वहीं सिपाही पद के लिए अगस्त में विज्ञापन और जून 2018 में रिजल्ट घोषित होगा। रिजल्ट के बाद अक्टूबर में ट्रेनिंग शुरू होगी और अगले साल सितंबर में ट्रेनिंग पूरी होगी।

इसलिए आई तेजी

बता दें कि पिछले दिनों देश भर में UP Police Department Recruitment को लेकर एक वकील ने याचिका लगाई दायर की थी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 6 राज्यों के प्रमुख सचिव (गृह) को तलब कर पुलिस महकमे में खाली पड़े पदों का ब्यौरा और उन्हें भरने का रोडमैप मांगा था। इसके बाद यूपी सरकार ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में इस संबंध में रोडमैप सौंपा।